Lower Back Pain on Left Side | लेफ्ट साइड में लोअर कमर दर्द

Lower Back Pain on Left Side

Lower Back Pain on Left Side यानि कमर दर्द आजकल किसी भी व्यक्ति को हो सकता है। जो थोड़े समय के बाद अपने आप ही ठीक हो जाता है।

इसी कारण, ज्यादातर लोग इस गंभीरता से नहीं लेते हैं, लेकिन कुछ लोगों के लिए कमर दर्द (Back Pain) परेशानी बन जाती है और उन्हें इसकी वजह से काफी सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

ऐसे में जब भी किसी व्यक्ति को कमर दर्द (Back Pain) होने लगता है, तो उसे शुरूआत में ही आवश्यक कदम उठा लेने चाहिए ताकि यह अधिक आगे न बढ़े।

देखा जाये तो कमर दर्द (Back Pain) वाला व्यक्ति, इसके लिए काफी सारे कदम उठाते भी हैं, लेकिन जब उन्हें किसी भी तरीके से आराम नहीं मिलता है तो वह दूसरे तरीके की तलाश करने लगते है।

अगर आपको या तो आपके कोई रिलेटिव कमर दर्द से परेशान है तो आपको इस आर्टिकल को ज़रुर से पढ़ना चाहिए क्योंकि इसमें हमने कमर दर्द (Back Pain) से छुटकारा पाने के लिए कारगर तरीकों की जानकारी विस्तार से दी है।

कमर दर्द क्या है? (What is Back Pain?)

हम कमर दर्द को पीठ दर्द (Back Pain) के नाम से भी जानते है। अगर किसी व्यक्ति को पीठ के ऊपरी (Upper Back Pain), मध्यम (Middle Back Pain) या निचले हिस्से (Lower Back Pain) में खिंचाव महसूस हो, तो उसे पीठ दर्द या तो कमर दर्द कहा जाता है।

हालांकि, कमर दर्द एक्सराइज़ (Exercise) या फिर आराम करने से ठीक हो जाता है, लेकिन यदि किसी भी व्यक्ति को इन दोनों तरीकों से भी आराम न मिले तो फिर उन्हें मेडिकल सहायता लेने की जरूरत पड़ती है।

कमर दर्द के लक्षण क्या हैं? (Symptoms of Back Pain in Hindi)

कमर दर्द होने का संकेत हमें काफी सारी चीजों से मिल जाता हैं नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए। कोई भी व्यक्ति को निम्न लिखी गई चीज़ों जैसे कमर दर्द (Back Pain) के लक्षण भी हो सकते हैं।

मांसपेशियों में तनाव (Back Muscle Strain)

Back Muscle Strain यानी की पीछे की और मांसपेशियों में तनाव। कमर दर्द (Back Pain) का प्रमुख लक्षण होता है मांसपेशियों में तनाव। ऐसी स्थिति में व्यक्ति को कमर में तनाव महसूस होता है, जो कुछ समय के बाद दर्द का स्वरूप ले लेता है।

दर्द का लगातार रहना

यदि किसी व्यक्ति को कमर में लगातार दर्द महसूस होता है, तो यह कमर दर्द का संकेत हो सकता है।

दर्द का आगे बढ़ना

कमर दर्द (Back Pain) आगे बढ़ते हुवे पैरों तक पहुंच जाता है। अगर ऐसा होता हो तो ऐसे व्यक्ति को तुरंत ही डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

डेली एक्टिविटी में प्रॉब्लम

डेली एक्टिविटी जैसे की झुकना, उठन , खड़े होना या फिर चलना। अगर ऐसे में आपको प्रॉब्लम है तो कमर दर्द (Back Pain) होने की संभावना होती है।

कमर दर्द के कारण क्या हो सकते हैं? (Causes of Back pain in Hindi)

कमर दर्द (Back Pain) से बोहत से लोग पीड़ित है, जिन्हें पीठ दर्द कई सारे ऐसे कारणों से हो सकता है। आइए जानते की कमर दर्द होने के मुख्य कारण क्या हो सकते है।

कैल्शियम की कमी का होना

जीन लोगो के बॉडी में कैल्शियम की कमी होती है उन्हें कमर दर्द (Back Pain) होने की संभावना जयादा होती है।

ज्यादा देर तक बैठे रहना

अभी के समय में ज्यादातर लोग बैठकर टीवी देखते रहते है या तो ऑफिस में काम करते रहते है। ऐसी स्थिति में ऐसे लोगों को कमर दर्द (Back Pain) होने की संभावना काफी बढ़ जाती है।

बैठने की मुद्रा सही न होना

बैठने की मुद्रा सही ना हो तो Lower Back Pain on Left Side या तो Lower Back Pain on Right Side की संभावना काफी अधिक रहती है।

कमर दर्द का इलाज क्या है? (Treatments of Back pain in Hindi)

एक्सराइज़ करके, फीजियोथेरेपी करवाके, दवाई खाना, सर्जरी करवाना और बर्फ के टुकड़े का इस्तेमाल करना। यह सब Treatments of Back pain है।

नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके News Of The Days के साथ जुड़ें।

आप हमें Facebook, Twitter और Instagram पर भी लाइक और फॉलो कर सकते हैं।

हम News Of The Days के वेबसाइट पर आप के लिए रोजिंदा कुस ना कुस लाते रहते है।

Previous articleSonu Sood ने मदद मागने वाले के आंकड़े जारी किये। घोषित किए गए आंकड़ों को देखकर आप भी चौंक जाएंगे।
Next articleMirzapur 2: मिर्जापुर सीजन 2 की तारीख की हुई घोषणा, जानिए कब होगी रिलीज।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here